Fastag Kaise Banta Hai | Fastag Kaise Kaam Karta Hai | Fastag Kaise Recharge Kare

Fastag Kaise Banta Hai (फास्टैग कैसे बनता है )

फास्टैग क्या होता है : दोस्तों आज की पोस्ट बहुत ही जानकारी प्रद है इस fastag का हमारे दैनिक जीवन में क्या महत्व है आज हम लोग इसके बारे में जानेगे एक दम सरल भाषा में आप को अगर यह fastag क्या होता है समझ नहीं आया है तो दोस्तों आज आप बहुत ही अच्छे से समझ जायेगे तो देर न करते हुए चलिए जानते है fastag कैसे बनता है .

fastag kaise banta hai

फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है. जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है .

Fastag Kaise Kaam Karta Hai (फास्टैग कैसे काम करता है)

फास्टैग कैसे काम करता है : दोस्तों फास्टैग सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय और NHAI की पहल है. यह एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. एक एक रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचान टैग है, जो गाड़ियों के आगे के शीशे पर लगा होता है. ताकि टोल प्लाजा से गुजरने पर वहां लगा सेंसर इसे रीड कर सके.और आप लम्बी लाइन से निजात पा सके.

फास्टैग एक बहुत ही अच्छा तकनीक लाया गया है भारत सरकार द्वारा दोस्तों आपने आते जाते सड़क पर सड़क का टूल लेते जरूर देखा होगा बहुत ही लम्बी लाइन लगी होती है इसी परेशानी को देखते हुए सरकार ने यह तकनीक फास्टैग लाया गया है .इसकी सुरुआत 2014 में की गयी थी लेकिन अब सभी जगह इसका इस्तेमाल हो रहा है .

Fastag Kaise Banwa Sakte hai(फास्टैग कैसे बनवा सकते है)

फास्टैग लेने के लिए कैसे कहाँ जाना पड़ेगा : दोस्तों फास्टैग आप ऑनलाइन खुद से बना सकते है या इसका एप्प आता है इसके जरिये आप ऑनलाइन आवेदन करके बनवा सकते है , फास्‍टैग को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (POS) लोकेशन पर जाकर बैंक से ऑफलाइन खरीदा जा सकता है. हालांकि, लंबी कतारों में लगने और समय बचाने के लिए इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना आसान होता है .

फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है. जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है. इसके बाद आपके फास्टटैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है. इस तरह आप टोल प्लाजा पर रुके बगैर शुल्क का भुगतान कर पाते हैं. वाहन में लगा यह टैग आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही अपना काम शुरू कर देगा. वहीं, जब आपके फास्टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगी, तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा.

फास्टैग लेने के लिए कैसे ऑनलाइन अप्लाई करें

फास्टैग के लिए कैसे ऑनलाइन अप्लाई करें : दोस्तों फास्टैग के लिए कैसे ऑनलाइन अप्लाई करना है नीचे हम आपको स्टेप बाई स्टेप बता रहे है आप से अनुरोध है जानकारी को पूरा पढ़े तभी आप को अच्छे से समझ में आएगा .

नोट :- फास्‍टैग को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (POS) लोकेशन पर जाकर बैंक से ऑफलाइन खरीदा जा सकता है. हालांकि, लंबी कतारों में लगने और समय बचाने के लिए इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना आसान है. FASTag आवेदन करने की प्रक्रिया विभिन्न बैंकों में थोड़ी अलग होती है. फिर भी आवेदन की मुख्य बातें सभी में समान रहती हैं .

स्टेप 1 - FASTag प्रीपेड खाता खोलने के लिए बैंक की ऑनलाइन FASTag एप्लिकेशन वेबसाइट पर जाना होगा और आपकों बता दे अगर आप के पास किसी भी बैंक का खाता नहीं है तब भी आप इसका लाभ उठा सकते है .

स्टेप 2 - दोस्तों इसके बाद अगर आप के पास बैंक का खाता है तो और आपकी खुद की गाड़ी होना चाहिए ,वाहन मालिक आधिकारिक FASTag पोर्टल पर लिंक fastag.org/download-application-form पर क्लिक करके लॉग इन कर सकते हैं। यह वेबसाइट इस योजना के बारे में पूरा विवरण मिल जायेगा .

स्टेप 3 - दोस्तों अब अपना निजी विवरण सही सही भरना होगा जैसे - नाम, पता, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि भरें.

स्टेप 4 - दोस्तों जब आप इस वेबसाइट के जरिए पूरी तरह से अपना आवेदन भर देंगे तो वह आपको फास्टैग कार्ड प्राप्त करने के सभी निर्देश जारी कर देगा।

स्टेप 5 - अब आपको अपना केवाईसी दस्तावेज विवरण (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, या आधार कार्ड) दर्ज करें.

स्टेप 6 - अब आप अपने वाहन पंजीकरण विवरण दर्ज करें. वाहन पंजीकरण का मतलब वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) नंबर से है.

स्टेप 7- अब आप अपने सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करें. इनमें केवाईसी दस्तावेज, वाहन मालिक की 1 पासपोर्ट साइज फोटो और आरसी शामिल हैं.

स्टेप 8 - आवेदन जमा करने के बाद आपका FASTag अकाउंट बन जाएगा. आप अपने FASTag खाते को ऑनलाइन या FASTag ऐप के जरिए एक्सेस कर सकते हैं. आप क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/ एनईएफटी / आरटीजीएस का उपयोग करके या नेट बैंकिंग के माध्यम से अपने FASTag खाते को रिचार्ज कर सकते हैं. 

Fastag Kaise Recharge Kare (फास्‍टैग को Recharge कैसे करें )

फास्‍टैग को Recharge कैसे होता है - इसके लिए आपको यूजर आईडी और वॉलेट आईडी से पहले FASTag portal पर लॉग इन करना होगा। इसके बाद आपको 'payment and topup' का ऑप्शन मिलेगा। इसके बाद 'Recharge' पर क्लिक करें और  जिस वॉलेट आईडी में आप पैसे जमा करना चाहते हैं उसे सेलेक्ट करें। यदि FASTag आपके बैंक खाते से पहले से जुड़ा हुआ है, तो प्रीपेड वॉलेट में अलग से पैसे जमा करने की आवश्यकता नहीं है। आपको केवल यह सुनिश्चित करने की जरुरत है कि टोल भुगतान के लिए आपके FASTag जुड़े बैंक खाते में पर्याप्त पैसे हो। हालांकि, अगर आपने FASTag को प्रीपेड वॉलेट (NHAI प्रीपेड वॉलेट) से लिंक किया है, तो इसे विभिन्न माध्यमों जैसे चेक के माध्यम से या UPI, डेबिट कार्ड ,क्रेडिट कार्ड, NEFT,नेट बैंकिंग के जरिए रिचार्ज किया जा सकता है।

Importance Of Fastag फास्‍टैग की जरूरत क्या है 

दोस्तों आप नए वाहन मालिक हो या आपके पास पुरानी गाड़ी क्यूँ न हो आपको FASTag के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है.आपको fastag कार्ड रजिस्ट्रेशन के समय पहले से ही उपलब्ध कराए जाएंगे. गाड़ी ओनर को बस FASTag अकाउंट को सक्रिय और रिचार्ज करना होगा. हालांकि, आपके पास पुरानी कार है, तो आप उन बैंकों से FASTag खरीद सकते हैं जो सरकार के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) कार्यक्रम से अधिकृत हैं. इन बैंकों में सिंडिकेट बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीएफसी बैंक, एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, और इक्विटास  आदि बैंक शामिल हैं. आपको को बता दे आप पेटीएम से भी FASTag खरीद सकते है और इसका रिचार्ज भी कर सकते है .

फास्‍टैग कस्टमर केयर नम्बर (फास्‍टैग ग्राहक सेवा केंद्र)

दोस्तों नीचे हमने आप को कुछ महत्वपूर्ण बैंक जो फास्‍टैग की हेल्पलाइन सेवा देती है उसको आपके समक्ष रखा हूँ उम्मीद करता हूँ भबिष्य में लाभप्रद होगी आइये जानते है वह कौन कौन से बैंक है . 

  1. एक्सिस बैंक 1800-419-8585
  2. आईसीआईसीआई बैंक 1800-2100-104
  3. आईडीएफसी बैंक 1800-266-9970
  4. भारतीय स्टेट बैंक 1800-11-0018
  5. एचडीएफसी बैंक 1800-120-1243
  6. पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड 1800-102-6480
  7. कोटक महिंद्रा बैंक 1800-419-6606
  8. सिंडिकेट बैंक 1800-425-0585
  9. फेडरल बैंक 1800-266-9520
  10. पंजाब नेशनल बैंक 080-67295310
  11. पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑप बैंक 1800-223-993
  12. सिटी यूनियन बैंक 1800-2587200
  13. बैंक ऑफ बड़ौदा 1800-1034568
  14. इंडसइंड बैंक 1860-5005004
  15. यस बैंक 1800-1200
  16. यूनियन बैंक 1800-222244

हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह आर्टिकल Fastag Customer Care Number की जानकारी पसंद आया होगा औऱ इस आर्टिकल में आपके ढूंढे जाने वाले बैंक का Customer Care Number जरूर मिल गया होगा।

तो अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है और अगर आपको इस आर्टिकल से थोड़ी भी मदत मिलती है तो इसे कर बारे जरूर शेयर करें ताकि और लोगों तक भी यह जानकारी पहुँच सके। आज हमने जाना - fastag क्या होता है,fastag कैसे बनता है ,फास्टैग कैसे काम करता है,फास्टैग कैसे बनवा सकते है,फास्टैग के लिए कैसे ऑनलाइन अप्लाई करें ,फास्‍टैग को Recharge कैसे करें,फास्‍टैग कस्टमर केयर नम्बर क्या है .

Comments

Popular posts from this blog

Up Ganna Payment 2020 Kaise Check Kare | upcane gov in calendar 2019-20 | Ganne Ka Payment 2021 Kab Tak Aayega

Narega Ka Payment Kaise Check Kare 2020 - नरेगा का भुगतान 2021 कैसे जानें | | How To Check Narega Payment 2021

WHAT IS INDIABULLS DHANI APP | ABOUT DHANI APP | INSTANT PERSONAL LOAN | INDIABULLS DHANI APP FEATURES | INDIABULLS DHANI APP से लोन कैसे लें

Narega List Me Naam Kaise Dekhe | मनरेगा में अपना नाम कैसे चेक करें | नरेगा का भुगतान कैसे देखें

(CG Rashan Card List) Chhattisgarh Ration Card List 2019 में ऑनलाइन नाम कैसे देखें ,CG APL BPL लिस्ट में अपना नाम कैसे देखे