Pradhan Mantri Ayodhya Me Bhumi Pujan Kaise Kiye - राम मंदिर भूमि पूजन 2020

Pradhan Mantri Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan Live Updates|राम मंदिर भूमि पूजन का पूरा कार्यक्रम क्या है

Pradhan Mantri Ayodhya Me Bhumi Pujan Kaise Kiye : दोपहर 12 बजे उन्होंने राम जन्मभूमि परिसर में प्रवेश किया और वहां राम लला विराजमान के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। फिर 12 बजकर 15 मिनट पर मोदी ने जन्मभूमि परिसर में परिजात (कोरल जैसमिन) नाम का पौधा लगाए। आगे साढ़े 12 बजे भूमि पूजन कार्यक्रम शुरू हुआ, जबकि 12 बजकर 40 मिनट पर वह राम मंदिर की आधारशिला रखी।

full program of ram temple bhumi pujan

नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है मेरे इस www.fasterjobselection.in पर आप सबको यह जानकारी लाभप्रद साबित होगी यही मेरी मेहनत का फल है आप सब को दिल से धन्यवाद। तो आइए आज हम आप लोगों को निचे दिए गए आज के नये पोस्ट के बारे में जानकारी देते है।

राम मंदिर भूमि पूजन का पूरा कार्यक्रम क्या है

Pradhan Mantri Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan : अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन की प्रक्रिया शुरू हो गई है. पीएम मोदी ने अयोध्या पहुंच सबसे पहले हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की, इसके बाद रामलला के दर्शन कर भूमि पूजन के कार्यक्रम में शामिल हुए.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामलला के दर्शन किए, उनकी पूजा की. इस दौरान पीएम ने साष्टांग दंडवत प्रणाम किया और परिसर में पारिजात का पौधा लगाया. इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई मेहमान भूमि पूजन में मौजूद रहे. अयोध्या को आज फिर से सजाया गया है, दीवाली जैसा माहौल है और सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम हैं.

Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan का पूरा कार्यक्रम में कौन कौन सामिल -

राम मंदिर भूमि पूजन का पूरा कार्यक्रम : पूजा करने वाले संत ने बताया कि देश और दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से शिलाएं लाई गई हैं, जिनपर श्रीराम का नाम लिखा है. इसी के साथ ही अब भूमि पूजन का काम शुरू हो गया है, पीएम मोदी के नाम पर शिलाएं रखी जा रही हैं.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वक्त राम मंदिर भूमि पूजन के अनुष्ठान में हिस्सा ले रहे हैं और पूजा की सभी विधियां पूरी कर रहे हैं. RSS प्रमुख मोहन भागवत, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं.

किस तरह होगा राम मंदिर भूमि पूजन का कार्यक्रम

राममंदिर के लिए भूमि पूजन का मुख्य कार्यक्रम तो 5 अगस्त यानी आज हुआ, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिरकत करेंगे लेकिन भूमि पूजन का कार्यक्रम सोमवार से ही शुरू हो गया था। 3 अगस्त  भूमि पूजन का कार्यक्रम सोमवार से ही शुरू हो गया था। 3 अगस्त को गणेश पूजा और 4 अगस्त को राम अर्चना के साथ हनुमान गाढ़ी में निशान पूजा होगी .आप को बाते दे पूजा में 21 ब्राह्मण सामिल होकर विधिवत पूजा कराएँगे अयोध्या में हो रहे भूमि पूजन के पूरे कार्यक्रम में काशी, अयोध्या, दिल्ली, प्रयाग के विद्वानों को बुलाया गया है।अलग-अलग पूजा के अलग-अलग एक्सपर्ट हैं।पूरी टीम 21 ब्राह्मणों की है जो अलग-अलग तरीकों से पूजा कराएगी। यह एक वक्त में नहीं होगी बल्कि अलग-अलग कालखंड में अलग-अलग ब्राह्मण पूजा कराएंगे।

राम मंदिर भूमि पूजन में 21 ब्राह्मण कैसे कराएँगे पूजा 

5 अगस्त को 9 ब्राह्मण प्रत्यक्षता पूजन करवाएंगे हालांकि सभी 21 ब्राह्मण साक्षी रहेंगे। उनकी देखरेख में पूरा पूजन होगा। भूमि पूजन में संकल्प लिया जाता है। पूजा किस उद्देश्य से की जा रहा है यह संकल्प में बताया जाता है। तिवारी ने बताया है कि पीएम मोदी पूजा करेंगे तो वह भी संकल्प लेंगे। समाज कल्याण के लिए, विश्व के मंगल के लिए और रामंदिर के लिए, दुनिया में राम की मर्यादाओं की स्थापना के लिए भी पूजा में संकल्प लिया जाएगा। 5 अगस्त का भूमि पूजन का कार्यक्रम करीब 40 मिनट का होगा।

राम मंदिर निर्माण का शुभारंभ 5 अगस्त दिन बुधवार 12:15

Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan निर्माण का शुभारंभ : 5 अगस्त दिन बुधवार को सवा 12 बजे शुभ अभिजीत मुहूर्त में पीएम मोदी मंदिर की आधार शिला गर्भगृह में रखकर मंदिर निर्माण का शुभारंभ करा देंगे। तीन चरणों में पूजन और चारों वेदों की ऋचाओं का परायण होगा। भूमि पूजन कार्यक्रम का आरंभ धनिष्ठा नक्षत्र में और समापन शतभिषा नक्षत्र में होगा। इन नक्षत्रों में भूमि पूजन के लिए काशी से भी पंडितों को बुलाया जा रहा है।


राम मंदिर बनने के बाद कैसे  दिखेगा 

लंबे इंतजार के बाद अयोध्या राम मंदिर के निर्माण के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंदिर निर्माण की पहली ईंट रखने के बाद से ही रामजन्मभूमि के सैकड़ों साल के अंधेरे इतिहास का पटाक्षेप हो जाएगा। सभी के मन में यह जिज्ञासा जरूर है कि मंदिर कैसा होगा और प्रभु श्रीराम अपने भाईयों के साथ कहां विराजेंगे। इसके लिए मंदिर निर्माण के लिए बने ट्रस्ट ने भव्य मंदिर के प्रस्तावित मॉडल की तस्वीरें भी जारी कर दी हैं। 



मंदिर का यह डिजाइन वास्तुकार निखिल सोमपुरा ने तैयार किया है। रामलला के मंदिर के लिए इससे पहले वीएचपी का पुराना मॉडल हमारे सामने था। इसे निखिल के पिता चंद्रकांत सोमपुरा ने तैयार किया था। अब पुराने डिजाइन में कुछ बदलाव किया गया है। मंदिर के नए मॉडल में ऊंचाई, आकार, क्षेत्रफल और बुनियादी संरचना में भी काफी परिवर्तन है

300 फीट राम मंदिर कितने समय में तैयार होगा 

आर्किटेक्ट प्रॉजेक्ट के अनुसार, मंदिर को बनकर तैयार होने में तीन से साढ़े तीन साल का समय लगेगा। मंदिर तीन मंजिला होगा और यह वास्तुशास्त्र के हिसाब से बनाया जाएगा। जहां रामलला का गर्भगृह बनेगा, उसके ऊपर के हिस्से को ही शिखर बनाया जाएगा। राम मंदिर की ऊंचाई में 33 फीट की वृद्धि की जा रही है। इसी वजह से एक और मंजिल बढ़ाना पड़ा है। मंदिर के पुराने मॉडल के हिसाब से मंदिर की लंबाई 268 फीट 5 इंच थी। इसे बढ़ाकर 280-300 फीट किया जा सकता है।


दोस्तों हम सब का सपना साकार हो गया ये भगवान श्री राम मंदिर इतने मुश्किलो में घिरा था आज बहुत ख़ुशी का दिन है पूरे भारत देश वाशियों की लिए हमारे भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र दामोदर दास मोदी के हाथो से आज राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन सम्पन्न होगा पुरे देश में खुशहाली छाई हुई है आज सबके घर पर राम मंदिर भूमि पूजन की ख़ुशी में दिवाली मनायी जाएगी उम्मीद करता हूँ यह खबर आप को अच्छी लगी होगी आप से एक निवेदन है सभी भक्तो से कृपया इस खबर को ज्यादा से ज्यादा लोगो के पास शेयर करे ||जय श्री राम ||

Comments

Popular posts from this blog

Up Ganna Payment 2020 Kaise Check Kare | upcane gov in calendar 2019-20 | Ganne Ka Payment 2021 Kab Tak Aayega

Narega Ka Payment Kaise Check Kare 2020 - नरेगा का भुगतान 2021 कैसे जानें | | How To Check Narega Payment 2021

WHAT IS INDIABULLS DHANI APP | ABOUT DHANI APP | INSTANT PERSONAL LOAN | INDIABULLS DHANI APP FEATURES | INDIABULLS DHANI APP से लोन कैसे लें

Narega List Me Naam Kaise Dekhe | मनरेगा में अपना नाम कैसे चेक करें | नरेगा का भुगतान कैसे देखें

(CG Rashan Card List) Chhattisgarh Ration Card List 2019 में ऑनलाइन नाम कैसे देखें ,CG APL BPL लिस्ट में अपना नाम कैसे देखे